गौतम बुद्ध उपदेश। के अनमोल वचन

गौतम बुध ने लोगो माध्यम मार्ग उन्होंने उपदेश दिया। उन्होने ने दुःख और इसका कारन का निवारण के लिए
आशांगिक मार्ग सुझ्या। उन्होंने अहिंसा पर जोर दिया उन्होंने पसु बलि ,याग की  निंदा की।

Gautam budh updesh


गौतम बुद्ध के महान उपदेश। 

एक पल एक दिन को बदल सकता है, एक दिन एक जीवन बदल सकता है। 
और एक जीवन दुनिया को बदल सकता है। 

भूतकाल में मत उलझो, भाभिषय के सपने मत देखो
वर्तमान पर ध्यान दे , यही असली सुख का रास्ता है। 

आपको अपने क्रोध से  सजा नहीं मिलती , बल्कि आपके 
क्रोध से सजा मिलती है। 

दुनिया में आप कभी तीन चीज नहीं छिपा सकते है। 
सूर्य , चंद्र , सच। 

बुराई से बुराई कभी ख़तम नहीं होती है। बलिकी सिर्फ प्रेम 
ख़तम होती है। 

स्वास्थ्यय सबसे बड़ा उपहार है , संतोष सबसे बड़ा 
धन है। 

घृणा घृणा से नहीं  प्रेम ख़तम होती है , यह सास्वत सत्य है।


ये जरूर पढ़े - गौतम बुध कौन थे। इनका  कब हुआ था। 




सबसे बड़ा अँधेरा  रात अज्ञानता है। 

अगर आप वासतव में  खुद से प्रेम करते है , तो 
आप किसी को  दुःख  नहीं देंगे। 

आपके मन में शांति अंदर से आती है ,
इसे आप बहार मत 

 शरीर को स्वश्थ रखना हमारा कर्तवय है ,
नहीं तो आप अपना मन मजबूत नहीं  रख पाएंगे। 

अपने आप पर विजय प्राप्त करना ,दूसरे पे विजय प्राप्त 
करने से बड़ा काम होता है। 

अगर आप किसी और  के लिए दीपक जलएंगे तो ,
मार्ग आपका भी प्रकशित होगा। 

जीवन में खुसिया बाटने से बढ़ती है ,
कभी काम नहीं होती है। 



Post a comment

0 Comments